मुझे भूल जाना

में केवल यह चाहता हूं कि तुम मुझे क्षमा कर दो और भुला दो। मुझे याद रखने की कोई आवश्यकता नहीं। आवश्यकता है कि तुम स्वयं को याद रखो। लोगों ने गौतम बुद्ध, जीसस क्राइस्ट, कन्फ्यूशियस और कृष्ण को याद रखा। पर इससे उन्हें कोई फायदा नहीं हुआ। तो मैं चाहता हूं: मुझे पूरी तरह भूल जाओ, और क्षमा भी कर दो। क्योंकि मुझे भुल जाना कठिन होगा। इसलिए तुम्हें मुसीबत में डालने के लिए मैं तुमसे माफी चाहता हूं।
स्वयं को याद रखो।
और इतिहासकारों और सब तरह के पागलों की चिंता ना करें। वे अपना काम करते रहेंगे। यह बिलकुल भी हमारी चिंता का विषय नहीं है।