Categories

By using our website, you agree to the use of our cookies.

Author: osholifestyle

Love, Lifestyle

सैकड़ों चलते हैं लेकिन मुश्किल से एक पहुंचता है-वह भी दुर्लभ है | ओशो कथा सागर 

तिब्बत में यह प्राचीन कहावत है कि सैकड़ों चलते हैं लेकिन मुश्किल से एक पहुंचता है–वह भी दुर्लभ है..   मुझे एक प्राचीन तिब्बती कथा याद आती है… दो आश्रम थेः एक आश्रम तिब्बत की राजधानी लहासा में था और इसकी एक शाखा दूर कहीं…

Media and Publishing

ओशो की रहस्यमयी परिस्थितियों में हुई मृत्यु के 23 वर्ष बाद पेश हुई ओशो की ‘वसीयत’ 

दिल्ली। ओशो की रहस्यमयी परिस्थितियों में हुई मृत्यु के 23 वर्ष बाद उनकी एक ‘वसीयत’ सामने आई है। इसको लेकर उनके अनुयायियों के दो प्रतिद्वंद्वी गुटों के बीच उनकी संपत्ति और उनके विचारों के अधिकार को लेकर चल रहे विवाद ने एक नया मोड़ ले…

Emotional Ecology, Vision

शांति की खोज | शांति कैसे मिले? | शांति और अशांति 

मेरे पास न मालूम कितने लोग आते हैं। वे कहते हैं, शांत कैसे हों? मैं उनसे पूछता हूं कि पहले तुम मुझे बताओ कि तुम अशांत कैसे हुए? क्योंकि जब तक यह पता न चल जाए कि तुम कैसे अशांत हुए, तो शांत कैसे हो…

Motivation

निर्विचार होने का उपाय है: विचारों के प्रति साक्षी-भाव को साधना। 

निर्विचार कैसे हुआ जाए? ओशो जिसे निर्विचार होना हो, उसे व्यर्थ के विचारों को लेना बंद कर देना चाहिए । उसे व्यर्थ के विचारों को लेना बंद कर देना चाहिए। इसकी सजगता उसके भीतर होनी चाहिए कि वह व्यर्थ के विचारों का पोषण न करे,…

Motivation

जिसे तुमने प्रेम समझा, वह अंत नहीं है। अभी इश्क के इम्‍तिहां और भी हैं | OSHO 

एक बड़ी प्राचीन कथा है। एक सम्राट अपने वजीर पर नाराज हो गया। उसने उसे एक मीनार पर बंद करवा दिया। वहा से भागने का कोई उपाय न था। अगर वह कूदे भी तो प्राण निकल जाएं। बड़ी ऊंची मीनार थी। उसकी पत्नी बडी चिंतित…

Motivation

अहंकार का त्याग कैसे करें ? OSHO 

अहंकार ओशो, अहंकार का त्याग कैसे करें ? यह असंभव है। अहंकार का त्याग नहीं किया जा सकता क्योंकि अहंकार का कोई आस्तित्व नहीं है। अहंकार केवल एक विचार है: उसमें कोई सार नहीं है। यह कुछ नहीं है – यह सिर्फ शुद्ध कुछ भी…

Guide

दुनिया भर में राजनीति सिर्फ बचकाने लोगों को आकर्षित करती है। OSHO 

राजनीतिक अंधापन आणविक युद्ध क्षितिज पर है, एड्‌स जैसा घातक रोग तेज गति से फैल रहा है, और वैज्ञानिक कहते हैं कि पृथ्वी अपनी धूरी को इस सदी के अंत में बदल लेगी। लेकिन पंडित, राजनेता और सरकारें इन तथ्यों के बारे में सचेत क्यों…

Motivation

ओशो का वह प्रवचन, जि‍सपर ति‍लमि‍ला उठी थी अमेरि‍की सरकार और दे दि‍या जहर 

ओशो का वह प्रवचन, जिससे ईसायत तिलमिला उठी थी और अमेरिका की रोनाल्‍ड रीगन सरकार ने उन्‍हें हाथ-पैर में बेडि़यां डालकर गिरफ्तार किया और फिर मरने के लिए थेलियम नामक धीमा जहर दे दिया था। इतना ही नहीं, वहां बसे रजनीशपुरम को तबाह कर दिया…