Categories
By using our website, you agree to the use of our cookies.

Category: Health

Ebeeee43 87B9 48F1 Bcd5 695B74C7Fdff Osho Meditation &Amp; Relationship
Guide

80 के दशक में 10 चौंकाने वाली बातें जो ओशो के कुख्यात ‘सेक्स कल्ट’ के तौर पर हो रही थीं 

इसके अलग होने के 30 साल बाद, भगवान श्री रजनीश का कुख्यात ‘सेक्स पंथ’ नेटफ्लिक्स के वाइल्ड वाइल्ड कंट्री की बदौलत फिर से सुर्खियों में है।. यहां रजनीशपुरम और उसके आसपास हुई 10 कुख्यात चीजें हैं: 1. भगवान रजनीश के कथित तौर पर 90 से अधिक रोल्स रॉयस थे ।  विलासिता का शौक रखने वाला एक व्यक्ति, वह अपनी पसंदीदा कार में क्षेत्र के चारों ओर प्रसिद्ध रूप से ड्राइव करता था, जबकि उसके भक्त गुरु की एक झलक पाने के लिए बड़े…

Osho Meditation 1384758 640 Osho Meditation &Amp; Relationship
Health

कोरोना जैसी महामारियों से लड़ने के लिए ओशो दे गए ये ज्ञान, बहुत काम की है बात 

70 के दशक में हैजा भी महामारी के रूप में पूरे विश्व में फैला था, तब अमेरिका में किसी ने ओशो रजनीश जी से प्रश्न किया- इस महामारी से कैसे बचें? तब ओशो ने विस्तार से जो समझाया वो आज कोरोना के संबंध में भी बिल्कुल प्रासंगिक है। ओशो ने कहा कि यह प्रश्न ही आप गलत पूछ रहे हैं, प्रश्न ऐसा होना चाहिए था कि महामारी के कारण मेरे मन में मरने का जो…

Flowering Osho Meditation &Amp; Relationship
Love

मन बहुत ही चालाक होता है, वो कुछ भी करता चला जाता है और उसे तर्कसंगत बनाता जाता है। 

खिलावट “स्मरण रखें, ध्यान तुम में और-और प्रज्ञा लाएगा, अनंत प्रज्ञा, दीप्तिमान प्रज्ञा। ध्यान तुम्हें और जीवंत और संवेदनशील बना देगा। तुम्हारा जीवन समृद्ध हो जाएगा। “साधु-संतो को देखो: उनका जीवन ऐसा हो गया है जैसे कि वो जीवन ही नहीं। ये लोग ध्यानी नहीं हैं। ये अपने आप को सताने वाले लोग हैं, खुद को प्रताड़ित करते हैं और उस प्रताड़ना में आनंद लेते हैं… मन बहुत ही चालाक होता है, वो कुछ भी…

Meditation Is Witnessing 3 Osho Meditation &Amp; Relationship
Emotional Ecology

आधुनिक पीढ़ी “मौन में बैठने” की कोशिश करेगी, तो उन्हें अपने भीतर का पागलपन दिखाई पड़ेगा। 

ओशो समकालीन लोगों के लिए ध्यान, जागरूकता, चेतना उपलब्ध कराने में एक क्रांति का प्रतिनिधित्व करते हैं। और उस सरल प्रस्ताव का भी जो स्वयं के जीवन के बदलाव के लिए है… उनकी समझ है कि यदि आधुनिक पीढ़ी “मौन में बैठने” की कोशिश करेगी, तो उन्हें अपने भीतर का पागलपन दिखाई पड़ेगा। उनकी इस बात की पुष्टि कई वैज्ञानिक अध्ययन में हुई है, जिनमे लोगों के मौन शिविर जैसी जगहों में जाने से होने…

14 3 Osho Meditation &Amp; Relationship
Motivation

लोग मुहब्बत के लिए वेष्याओं के पास जा रहे है। सोचते हैं । रुपया देने से प्रेम कैसे मिल सकता है ? OSHO 

कैसी-कैसी विडंबनाऐं(imitation) पेैदा हो जाती है। लोग मुहब्बत के लिए वेष्याओं के पास जा रहे है। सोचते हैं, शायद पैसा देने से मिल जाएगा। रुपया देने से प्रेम कैसे मिल सकता है ? प्यार को तो खरीदा नहीं जा सकता। लोग सोचते हैं, जब हम बडे पद पर होंगे, तो मिल जायेगा । पर चाहे हम कितने ही बडे पद पर हो जाए, प्रेम नहीं मिलेगा। हां, खुशामदी इकठ्ठे हो जाएंगे। लेकिन खुशामद प्रेम नहीं…

63 Osho Meditation &Amp; Relationship
Emotional Ecology

पुरुष बिलकुल अधूरा है, स्त्री के बिना तो बहुत अधूरा है। OSHO 

बुनियादी भूल जो सारी शिक्षा और सारी सभ्यता को खाए जा रही है, वह यह है कि अब तक के जीवन का सारा निर्माण पुरुष के आसपास हुआ है, स्त्री के आसपास नहीं। अब तक की सारी सभ्यता, सारी संस्कृति, सारी शिक्षा पुरुष ने निर्मित की है, पुरुष के ढंग से निर्मित हुई है, स्त्री के ढंग से नहीं। पुरुष के जो गुण हैं, सभ्यता ने उनको ही सब कुछ मान रखा है। स्त्री की…

30 0 Osho Meditation &Amp; Relationship
Emotional Ecology

स्त्रियों ने उद्‍घोषणा की है समानता की, तो पुरुषों की छाती पर साँप लौट रहे हैं OSHO 

पहली दफा दुनिया में एक स्वतंत्रता की हवा पैदा हुई है, लोकतंत्र की हवा पैदा हुई है और स्त्रियों ने उद्‍घोषणा की है समानता की, तो पुरुषों की छाती पर साँप लौट रहे हैं। मगर मजा भी यह है कि पुरुषों की छाती पर साँप लौटे, यह तो ठीक, स्त्रियों की छाती पर साँप लौट रहे हैं। स्त्रियों की गुलामी इतनी गहरी हो गई है कि उनको पता नहीं रहा कि जिसको वे चरित्र, सती-सावित्री…

62 1 Osho Meditation &Amp; Relationship
Health

जब कामवासना पकड़े , तब डरो मत। शांत होकर बैठ जाओ। जोर से श्वास को बाहर फेंको – OSHO 

भीतर मत लो श्वास को। क्योंकि जैसे भी तुम भीतर गहरी श्वास को लोगे, भीतर जाती श्वास काम-ऊर्जा को नीचे की तरफ धकाती है। जब तुम्हें काम-वासना पकड़े, तब एक्सहेल करो। बाहर फेंको श्वास को। नाभि को भीतर खींचो, पेट को भीतर लोग और श्वास को बाहर फेंको जितनी फेंक सको। धीरे-धीरे अभ्यास होने पर तुम संपूर्ण रूप से श्वास को बाहर फेंकने में सफल हो जाओगे। जब सारी श्वास बाहर फिंक जाती है, तो…